Home / राज्य / उत्तराखण्ड / उत्तराखंड सदन में नेताओं ने रच दिया इतिहास, जाने क्या किया

उत्तराखंड सदन में नेताओं ने रच दिया इतिहास, जाने क्या किया

विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने कहा कि चतुर्थ विधानसभा का बजट सत्र (आठ से 15 जून) 43 घंटे 38 मिनट तक संचालित हुआ। राज्य निर्माण के बाद पहली बार हुआ होगा कि जब रात के 11 बजकर 50 मिनट तक कार्यवाही चली हो।
इसके अलावा केवल डेढ़ घंटा तक ही कार्यवाही बाधित हुई।
 विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि इस दौरान छह विधेयक पारित हुए और जबकि उत्तराखंड आवासीय विवि संशोधन विधेयक 2017 पुर:स्थापित किया गया। इस बजट सत्र में कुल 693 प्रश्न प्राप्त हुए थे, इसमें 231 प्रश्न उत्तरित हुए।
उन्होंने बताया कि बहट के सत्र के दौरान नियम-300 के अंतर्गत 136 सूचनाएं प्राप्त हुई, जिसमें 56 सूचनाएं स्वीकृत की गई। नियम 53 से 80 सूचनाएं प्राप्त हुई, जबकि 10 सूचनाएं स्वीकृत की गई।

इसी तरह नियम-58 में ध्यानाकर्षण के लिए 14 सूचनाएं प्राप्त हुई और 14 ही स्वीकृत की गई। विधानसभा संचालन में उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान का भी प्रथम दिन निर्वाचन से ही सहयोग प्राप्त होता रहा।

पुराने सदस्यों ने अपने अनुभव के आधार पर सत्र को संचालित करने में सहयोग किया और नए सदस्यों ने उत्सुकता के साथ कार्यवाही संचालन में शामिल हुए।