Home / अनूप कुमार का ब्लॉग / निखिल दधीचि ने कहा कुतिया

निखिल दधीचि ने कहा कुतिया

निखिल दधीचि ने कहा कुतिया
रविश ने कहा गुंडा
सोशल मीडिया पर बिकने की होर लगी हुई है। और ठीक ऐसा ही है जैसे कि चुनाव जीतने के लिए उम्मीदवार विपक्ष पर कोई भी कितना भी घिनौना आरोप जड़ देता है। बात होती है वोट हासिल करने की। यहां बात है views हासिल करने की। निखिल दधीचि का नाम अगर रवीश नहीं लेता तो वो लाखों लोग जो रवीश को वामपंथियों का पत्रकार मानकर नफरत करते हैं उसे नहीं सुनते और दधिजि अगर गौरी लंकेश को गाली नहीं देता तो वो लाखों जो भाजपा विरोधी हैं वो उसके ट्वीट पर नहीं झांकते। लोग अपनी भीड़ के लिए मसाला ढूंढते हैं। पता लगा लिया कि मोदी दधीचि को फॉलो करते हैं और अब मोदी से कह रहे हैं कि उससे माफी मांगे। इस बीच मुद्दा गुम हो जाता है। गौरी लंकेश की हत्या दधीचि और रवीश की भीड़ का मसाला बन जाता है। ये लोग खुलेआम 70 और 30 प्रतिशत का गेम बजाते हैं। शर्म किसी को नहीं आती। प्रजातंत्र है शर्म करने से न पत्रकारिता चलती है और न ही राजनीति।हाँ आलेख का शीर्षक भी सोशल साइट का ही है।